आजकल Android Smartphone का इस्तेमाल करना एक आम बात हो गई है और सभी लोग एंड्रॉयड फोन का इस्तेमाल करते हैं। एंड्रॉयड फोन हमें बहुत-सी सुविधाएं देता है लेकिन इन सभी सुविधाओं की एक Limit होती है और आप अपने एंड्रॉयड फोन का इस्तेमाल उसी सीमा तक कर सकते हैं। Android एक Linux Based Operating System है, यह एक open source operating system है। बहुत से लोग इसका इस्तेमाल security or hacking के लिए करते हैं।

android root kya hai

Android फोन में बहुत सी ऐसी सेवाएं होती है जिनका उपयोग हम सिर्फ एक root phone में ही कर सकते हैं। बहुत से users अपने फोन में इन सेवाओं का प्रयोग करने के लिए अपने फोन को रूट कर लेते हैं लेकिन दोस्तों एंड्रॉयड फोन को रूट करने से पहले आपको इसके फायदे और नुकसान के बारे में भी पता होना चाहिए, क्योंकि एंड्रॉयड मोबाइल को root करने जितने फायदें होते हैं उतने ही इसके नुकसान भी होते हैं। चलिए हम फोन को रूट करने के फायदे और नुकसान के बारे में जानते हैं।

एंड्रॉयड रूट क्या है - What is Android Root

Root को हिंदी भाषा में जड़ कहा जाता है। एंड्रॉयड फोन को रूट करने का अर्थ है उसकी जड़ तक पहुंच जाना। एंड्रॉयड मोबाइल एक Linux operating system है इसलिए इसकी जो सीमाएं होती है उन्हें हम फोन को रूट करके सामाप्त कर सकते हैं। एंड्रॉयड फोन को रूट करने के बाद आप उसे एक Administrator की तरह इस्तेमाल कर पाते हैं।


Rooting ऐसी प्रोसेस है जो आपको सिस्टम के कोड तक को एक्सेस करने की अनुमति देती है। एंड्रॉयड फोन को रूट करने के बाद आप उसमें किसी भी third party app को आसानी से install कर सकते हैं जिसकी permission आपको manufacturer नहीं देता है।

मोबाइल रूट करने के फायदें - Android Root Benefits

एक एंड्रॉयड फोन को रूट करने के निम्न फायदे होते हैं-

1. System Apps Uninstall: जो एप्प हमारे फोन के साथ ही install हुए आते हैं आप एक unroot phone में उन्हें uninstall नहीं कर सकते हैं। लेकिन मोबाइल को रूट करने के बाद उन सभी सिस्टम एप्लिकेशन को uninstall कर सकते हैं जिनकी आपको जरूरत नहीं है।

2. Customization: एक Root एंड्रॉयड मोबाइल को आप अपनी तरह से आसानी से customize कर सकते हैं और उसके icons, font, color आदि को भी आसानी से change कर सकते हैं।

3. Phone की Performance or Battery Life: जब हम एक root phone में unused system apps को uninstall कर देते हैं तो हमारे फोन की रैम (RAM) में भी वृद्धि होती है और फोन की Performance के साथ Battery Life भी अच्छी हो जाती है।

4. Root Only Apps: बहुत से ऐसे apps होते हैं जिनका इस्तेमाल हम सिर्फ rooted phone में कर सकते हैं। एंड्रॉयड मोबाइल को रूट करने के बाद आप उन सभी apps को इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही कुछ premium apps को free में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

5. Full Device Backup: एक बिना रूट फोन में आप full backup नहीं ले सकते हैं लेकिन एक rooted phone में आप third party apps यानी titanium apps का प्रयोग करके full backup ले सकते हैं।

मोबाइल रूट करने के नुकसान - Android Root Loss

Android Phone को Root करने के जितने अधिक फायदें होते हैं तो एंड्रॉयड फोन को रूट करने के कुछ महत्वपूर्ण नुकसान भी होते हैं। इन नुकसान को जानने पर आपके दिमाग में फोन रूट नहीं करने का सुझाव आयेगा।

1. Phone Troubling: एंड्रॉयड मोबाइल को रूट करने पर आपको फोन खराब भी हो सकता है क्योंकि फोन को रूट करते समय अगर रूटिंग सही तरह से नहीं होती है तो आपके फोन को खराब होने में समय नहीं लगता है। इसलिए फोन को रूट करने से पहले इस बात का भी ध्यान रखें।

2. No Warranty: फोन को रूट करने के बाद आपको फोन पर जो warranty मिलती है वह समाप्त हो जाती है लेकिन फोन को unroot करने के बाद warranty फिर से लागू हो जाती है।

3. Virus Problem: फोन को रूट करने पर आपको फोन में बायरस भी आ सकता है और आपका फोन भी हैक हो सकता है। जिससे आपका personal data भी चोरी हो सकता है।

4. Version Update Problem: Phone को Root करने के बाद आप android new version को update नहीं कर सकते हैं। Android version को update करने के लिए आपको अपने फोन को unroot करना पड़ता है लेकिन कभी-कभी फोन को unroot करने के बाद भी android version update नहीं होता है।

तो दोस्तों इसलिए अपने फोन को रूट करने से पहले इसके नुकसान के बारे में भी सोच लेना चाहिए। अगर आपका कोई सवाल है तो आप Comment करके पूछ सकते हैं।

उम्मीद है कि आपको Android Root क्या है - फोन रूट करने के फायदे और नुकसान जानकारी  के बारे में दी गई ये जानकारी पसंद आईं होगी।